Ticker

10/recent/ticker-posts

अजीनोमोटो क्या है ? जानिए MSG के फायदें और नुकसान।

अजीनोमोटो एक तरह का कैमिकल है, अजीनोमोटो को MSG भी कहते हैं, MSG का मतलब है Mono Sodium Glumate. ये प्रोटीन का हिस्सा है, जिसे अमीनो एसिड कहते हैं, वास्तव में अजीनोमोटो जापान का एक खाद्य एवं केमिकल निगम का नाम है जो कई खाद्य पदार्थ तथा औषधियों के अतिरिक्त विशेष रूप से शुगर फ्री टेबलेट का निर्माण भी करता है। सारे विश्व के शुगर फ्री उत्पादन का लगभग 40 प्रतिशत भाग इस अजीनोमोटो निगम का है। अजीनोमोटो का जापानी भाषा में अर्थ (Ajinomoto meaning in Japanese) है स्वाद पैदा करने वाला रसायन (Flavoring Chemicals)। इस कम्पनी का मुख्य कार्यालय टोकियो में है और इसका व्यापार लगभग 26 देशों में चलता है। इसी कम्पनी के द्वारा एक विशेष नमक तैयार किया जाता है जिसका नाम ही अजीनोमोटो नमक प्रसिद्ध है। यह नमक लगभग सभी चाइनीज खाद्य पदार्थों में प्रयोग किया जाता है जैसे- नूडल्स, चाऊमीन, बर्गर, मंचूरियन, मोमोज, पिज्जा तथा सूप इत्यादि। अजीनोमोटो की आवश्यकता हमारे शरीर में इतनी नहीं होती कि इसका सेवन हमें बाहर से करना पड़े। इस मोनोसोडियम की अधिकता हमारे तंत्रिका तंत्र की कोशिकाओं के संतुलन को खराब कर देती है। परन्तु केवल स्वाद के नशे में भारत के खाद्य बाजार में भी अब अजीनोमोटो का प्रचलन लगातार बढ़ता जाता है।

अजीनोमोटो की खोज कैसे हुई ?

अजीनोमोटो को पहली बार 1909 में जापानी जैव रसायन किकुनाए इकेडा के द्वारा खोजा गया था, उन्होने इसके स्वाद को मामी के रूप में पहचाना जिसका अर्थ होता है सुखद स्वाद। कई जापानी सूप में इसका इस्तेमाल होता है, इसका स्वाद थोडा नमक के जैसा होता है, देखने में यह चमकीले छोटे क्रिस्टल के जैसा होता है, इसमें प्राकृतिक रूप से एमिनो एसिड पाया जाता हैं।

अजीनोमोटो का उपयोग किन चीजों में होता है।

अजीनोमोटो का उपयोग विशेष रूप से चायनीज खाने में किया जाता है, इसका उपयोग करके लोग खाने को स्वादिष्ट बनाते हैं। 

अजीनोमोटो में एमिनो एसिड की मात्रा सबसे अधिक पाई जाती है।

इसका इस्तेमाल चायनीज खाने जैसे नुडल्स, सूप, मसाला आदि कई प्रकार के खाने की चीजों में किया जाता है।

 नूडल्स, बर्गर, पिज़्ज़ा आदि को स्वादिष्ट बनाने के लिए अजीनोमोटो डाला जाता हैं और मैगी मसालों में भी अजीनोमोटो का इस्तेमाल स्वाद बढ़ाने के लिए किया जा रहा है।

नींबू सत के फायदे व नुकसान पढ़ें।

अजीनोमोटो के लाभ।

कुछ खाद्य पदार्थो में प्राकृतिक रूप से ग्लूटामेट पाया जाता है जैसे टमाटर, पनीर देसी घरेलू क्रीम और मशरूम में ये प्रचुर मात्रा में पाए जाते है, जिससे इसमें अलग से इसका इस्तेमाल नहीं किया जाता और यह हानिकारक भी नहीं होता है, इसलिए अगर कोई व्यक्ति स्वस्थ है और उसको इसे खाने से कोई समस्या नहीं है तो उसे इसका सेवन करने में कोई परेशानी नहीं होगी, यू. एस. फ़ूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन ने एमएसजी के सेवन को सामान्य रूप से सुरक्षित माना है।

एमएसजी का इस्तेमाल सुरक्षित माना गया है, लेकिन इसको लेकर कुछ ग़लतफ़हमी भी है जो कि वैज्ञानिक रूप से अभी प्रमाणित नहीं हुई है, इसका इस्तेमाल सब्जियों के मसाले में किया जाता है।

अजीनोमोटो के नुकसान।

अजीनोमोटो का स्वाद खाने में नमक की तरह होता है, जिसको बाजार में मिलने वाले ज्यादातर खाने की चीजों में डालकर खाया जाता है, खाने में यह नमक से ज्यादा स्वादिष्ट है, लेकिन इसका ज्यादा सेवन सेहत को बिगाड़ सकता है।

कुछ लोगों को अजीनोमोटो के सेवन के बाद असुविधाओं का सामना करना पड़ता है और उन्हें सिर दर्द, मतली, उल्टी जैसे रोग घेर लेते हैं।

तंत्रिका पर प्रभाव।

एमएसजी तंत्रिका को प्रेरित कर उसमे असंतुलन पैदा कर सकती है इस वजह से गर्दन में अकडन या खिचाव के साथ शरीर में झुनझुनी पैदा होने लगती है, इसके सेवन से अल्झाइमर, हन्तिन्ग्तिओन और पार्किन्सन, मल्टीप्ल स्क्लेरोसिस जैसी लक्षण पैदा होने लगते है, अजीनोमोटो एक नयूरोत्रन्स्मित्टर है जो अनिंद्रा जैसे विकारों के भी लक्षण पैदा कर सकते है।

बांझपन

गर्भवती महिलाओं को अजीनोमोटो खाने से बचना चाहिए, क्योंकि अजीनोमोटो में मौजूद तत्व भोजन की आपूर्ति में बाधा डाल सकते हैं, जिसका सीधा असर महिला के न्यूरोंस पर पड़ता है। इसके खाने से शरीर में सोडियम की मात्रा अधिक बढ़ जाती है, इससे ब्लड प्रेशर बढ़ने का खतरा होता है, अजीनोमोटो महिलाओं के बांझपन का कारण भी बन सकता है।

मोटापा

आज के अधिकतर लोग फ़ास्ट फ़ूड खाना पसंद करते हैं, वहीं दूसरी चीज ये भी है कि लोगों के खानपान की आदत आज बिगड़ चुकी है। जंक फ़ूड का स्वाद बढ़ाने के लिए अजीनोमोटो का इस्तेमाल किया जा रहा है, ऐसे में यह अजीनोमोटो आपके शरीर में सोडियम की मात्रा को बढ़ा सकता है, अजीनोमोटो के सेवन से हमें बार बार भूख लगती है और आदमी बार-बार खाना खाता है, जिसके कारण लोग मोटे होते हैं, इसलिए अगर आप मोटापे से बचना चाहते हैं तो अजीनोमोटो खाने से परहेज़ करें।

अनिद्रा

अजीनोमोटो एक न्यूरोट्रांसमीटर है जो मस्तिष्क कोशिकाओं या न्यूरॉन्स को उत्तेजित करता है, जिसके कारण आपको रात भर नींद नहीं आएगी, इसका असर ये होगा कि आप दिन में काम करते वक्त सोएंगे आपका काम ठीक तरह से नहीं हो पाएगा ऐसे में अगर पर्याप्त मात्रा में नींद ना मिले तो दिन भर आदमी खुद को कमजोर महसूस करता है और उसे श्वास संबंधित रोग होने का खतरा होता है।

माइग्रेन।

माइग्रेन अर्थात आधे सिर दर्द की समस्या. आज की अधिकांश युवा पीढ़ी इस समस्या से परेशान है, माइग्रेन का दर्द कई बार इतना तेज होता है कि पीड़ित व्यक्ति इससे अंदर तक हिल जाता है। अजीनोमोटो का सेवन माइग्रेन का कारण बनता है इसलिए यदि आप माइग्रेन से बचना चाहते हैं तो अजीनोमोटो युक्त भोज्य पदार्थों का सेवन ना करें।

सीने में दर्द

अजीनोमोटो का सेवन करने से अचानक सीने में दर्द होने लगता है और धड़कन भी बढ़ जाती है. साथ ही ह्रदय की मांसपेशियों में खिचाव होने लगता है।

जड़ी बूटी लिस्ट व उनके गुण आदि की जानकारी, पढ़िए।

बच्चो के लिए हानिकारक है अजीनोमोटो

एमएसजी यानि अजीनोमोटो युक्त खाद्य पदार्थ बच्चों को बिल्कुल भी नहीं खिलाना चाहिए, अजीनोमोटो का प्रभाव प्रत्येक व्यक्ति पर अलग-अलग होता है अगर किसी भी व्यक्ति को इसको खाने के बाद बताए गए लक्षण न दिखे, तो उनके लिए इसका सेवन सुरक्षित हो सकता है। 

इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं, इनकी पुष्टि हमारी साइट नहीं करती है। इन पर अमल करने से पहले अपने विशेषज्ञ से संपर्क करें।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ