घर में समस्या आने का मेन कारण है क्या ?अपने दिमाग का सही प्रयोग करें।

आज मैं ऐसा आर्टिकल लिखने जा रहा हूं जिसके बारे में सभी लोग जानना भी चाहते हैं और थोड़ी सी जानकारी से अनेकों जानकारियां अपने आप आपके दिमाग में उतरने लगेंगी  हमारे मस्तिष्क और स्मरण शक्ति से जुड़ी हुई बातें तो चलिए जानते हैं कुछ प्रश्ननो के उत्तर।

कल्पना जागृति क्या है ?

 क्या हमारे दिमाग पर दूसरे का हक़ या हावी हों सकता है?

हा अगर आपके पास अंदर के विचारो से लड़ने की शक्ति नहीं है तो आप पर उसके विचार हावी हो सकते हैं। जो आपसे मानसिक रूप से जुड़ा हो।

डबल दिमाग किसे कहते हैं?

1 आप कुछ भी कर रहे हो वह काम न कर पाना दूसरे तरीके से उस काम को कर देना डबल दिमाग की गिनती में आता है। जैसे आप एक्स वाई जेड कोई भी काम कर रहे हैं आप सोच रहे हैं ऐसा करूंगा उस तरीके से नहीं होकर दूसरे तरीके से हो जाना इसे ही कहते हैं डबल दिमाग।

2 आपके मन में एक विचार न होते हुए अनेकों विचार चलते रहना एक विचार आने पर, किसी काम को शुरू करने पर विचारधाराओं का चलना और उस काम को छोड़कर दूसरे काम में लग जाना।

 इसलिए इसका इलाज यही होगा कि आप अपने हाथ से जो काम कर रहे हो वर्तमान में उसी को करते रहे जैसे आपके मन में विचारों का आना शुरू हो, उसे आप लिखना शुरू कर दें, वर्तमान में जो काम कर रहे हो उसके बाद उस काम को अंजाम दे, इसके लिए ऐक छोटी डायरी, और पैन अपने पास रखें जब भी कोई नया विचार आय उसमें लिखते रहें और अपने काम को अंजाम देते रहे।

जिद्दी दिमाग की क्या हरकत होती हैं ?

जिद्दी दिमाग वाले अपने आप को परमात्मा मानते हैं वो यह समझते है कि हम जो करते है वह कोई नहीं कर सकता वो पहले अपने घर में कोई भी काम हो रहा वो अपने पे लेते हैं, धीरे-धीरे उनको मानसिक रूप से यह बात मानने पर मजबूर कर देते है, यह सारा काम मुझसे ही होता है, यानी वह अपने को भगवान मान बैठते हैं, काम अपने हिसाब से होता है, वो हम सारे लोग मिलकर करते है। फिर वो अपना विजूअलाईजेशन दूसरो पर करने लग जाते है। इसमें उनके घर वालों का हाथ रहता है क्योंकि बचपन से ही उसके दिमाग में ऐसी बातें भरदी की आप ही हो जो आगे हमारा सब कुछ करोगे।

जैसे में ट्रेन में सफ़र कर रहा था, उसी दौरान ट्रेन कि बोगी में दो लड़की और ऐक औरत सफ़र कर रहे थे, रात निकली सुबह हो गई ठंडी का मौसम था, राजस्थान में ट्रेन दौड़ रही थी, तभी उन दो लड़की मेसे एक लड़की बोगी का गेट खोलकर खड़ी हो गई ट्रेन की बोगी मे बैठे यात्रीयो को ठंड लगने लगी सोच रहे थे कि धोड़ी देर में गेट बंद कर देगी मगर वह लड़की भहोत देर तक वही खड़ी रहती है, उसे ठंड सहन नहीं हुई तब हट जाती है, और ठंड से कांपने लग जाती हैं, क्योंकि उसकी जिद थी। यानी अपने शरीर में कितना भी दर्द हो या घाटा हो, उसे सहन करते जाते हैं मगर अपने आप को परमात्मा साबित करने की भरपूर कोशिश करते हैं।

अपने आप को मजबूत कैसे बनाएं ?

क्या हम विचारों से दूसरी भाषा को समझ सकते हैं ?

हां हम विचारों से अपनी स्मरण शक्ति लगाकर दूसरे की भाषा को कर सकते हैं समझ सकते हैं। एक अंदाजा

कभी-कभी हम अपने मस्तिष्क में बातें करते रहते हैं और अनेकों विचारधाराओं से सोचते रहते हैं अब यहां बात आती है आपकी भाषा की अगर आप कहीं दूसरे राज्य या दूसरे देश जहां पर आप की भाषा नहीं समझ रहे हैं, वहां आपके व्यवहार से और आपके मस्तिष्क की विचार धारणाओं से सामने वाले व्यक्ति को कैसे पता चल जाता है, कि आप क्या चाहते हैं,

 कभी आपने इस पर विचार किया है, नहीं किया है तो मैं आपको बता दे रहा हूं कि हमारे परमात्मा ने हमें अनेक तरह की शक्तियां दी हैं, उन्हीं में से एक "स्मरण शक्ति" है जो आप सोच रहे हैं और आप जो चाहते हैं, वह सामने वाले को उसकी भाषा में कन्वर्ट करके उसका सिस्टम आप क्या सोच रहे हैं, बता देगा और वह समझ जाएगा कि आपके मन में क्या चल रहा है, (अगर इंसान है तो) और आप क्या चाहते हो।

कहीं काम करते वक्त दिमाग में तनाव क्यो आता है ?

1 ऐसा लगे कि आपका दिमाग खराब रहता है, कहीं काम करते वक्त तो आपको यह समझना चाहिए आपका इस्तेमाल होने वाला हैं, जैसे आपका काम पेंटर का है। और आपसे नहीं हो रहा आपका दिमाग काम नहीं कर रहा या आपको लगे कि आपके दिमाग पर कोई हावी है, तो आपको वहा से काम छोड़ देना चाहिए अन्यथा आपका इस्तेमाल हो सकता है। वहा आपसे दूसरे काम करवाने की तैयारी हो रही हैं।

या नीचे दी गई लिंक पर क्लिक कर और जानकारी लें:-

नौकरी में समस्या आने का क्या कारण है ? और पूजा का फल क्यों नहीं मिल रहा।

2 बहुत बार ऐसा होता है कि जब भी आप किसी भी चीज़ को ज्यादा सोंचते हैं, या आप पर नकारात्मक विचारो का आना तो एकदम से सिर में दर्द होना शुरू हो जाता है। क्यों कि बहुत अधिक सोचने से दिमाग अपने नियंत्रण को खोने लगता है, जिससे कि दिमाग की नसों पर दबाव पड़ता है। इसके कारण ही आपके सिर में दर्द होने की समस्या उतपन्न होती है। ऐसा होने पर आपको एकदम से शांत हो जाना चाहिए अपने आप को शून्य में ले जाकर एकांत में आराम करना चाहिए।

क्या मैं अपने दिमाग से हकीकत को झुठला सकता हूं ?

हां आप कुछ दिनों के लिए इसको झुठला सकते हैं अगर आपको नजरों से किसी ने देखा नहीं है तब ऐसे:-

 1 स्मरण शक्ति के बारे में यौन संबंध का काफी रिश्ता है, उसके बारे में मैं आपको थोड़ा बहुत बताऊंगा एक व्यक्ति चाहता है कि मैं किसी भी महिला के साथ यौन संबंध बनाऊंगा अगर महिला तैयार है तो, अब समाज को इसके बारे में पता लगने का डर रहता है, पहला कदम यह उठाएगा, किसी पशु की आड़ लेगा कि पशु सेक्स कर रहे हैं। उसी समय में इसके साथ यौन संबंध बना लूंगा, या खुद यौन संबंध बनाते समय किसी पशु के बारे में सोचते रहेगा कि पशु सेक्स कर रहा है। इसका दूसरे व्यक्ति की स्मरण शक्ति में एक तरह से रिकॉर्डिंग हो जाती है, जो उसके मस्तिक से उसी क्षण जुड़ा हुआ होता है, अब जब भी कोई व्यक्ति उन्हें देखेगा तो जो उस से जुड़ा था यौन संबंध बनाते समय उसने सोचा था किसी पशु के बारे में उसकि स्मरण शक्ति में रिकॉर्डिंग हुआ जब भी कोई उसे देखेगा तो वह पशु वाला ही उसे दिखाई देगा क्योंकि उसने यह देखा नहीं स्मरण शक्ति से उसके दिमाग में फिट हो गया उसको पीछे की यह याद भी आई कि कोई पशु योन संबंध बनाया, तो किसी को भी पता नहीं चलेगा अगर कोई अपनी स्मरण शक्ति से हमें देखेगा तो उसको पशु ही यौन संबंध बनाते हुए दिखाई देंगे।

वर्तमान की सोच आगे का भविष्य।

2 कोई अपने पिता या शादीशुदा भाई का सहारा लेता है। वह किसी महिला के साथ गुप्त संबंध बनाएगा उस समय अपने भाई और भाभी का स्मरण करते हुए बनाएगा या किसी अन्य जो समाज में सही हो को अपनी स्मरण शक्ति से देखेगा तो वह उसको उसकी भाभी-भाई या कोई अन्य दिखेंगे तो कोई देखने की कोशिश नहीं करेगा वहां से तुरंत हत जाएंगे।

3 इसी तरह से रुपयों की चोरी भी की जाती है। चोरी की जगह पर ईमानदारी वेक्ती को दिखा दिया जाता है, आप समझ गए होंगे मैं क्या बोलना चाह रहा हूं

दोस्तों हमारी राय आपसे यही है कि अपनी स्मरण शक्ति का गलत उपयोग ना करें किसी के साथ भी गलत कर्म करने की ना सोचे न हीं करें क्योंकि यह एक बदनामी है। आप कितने ही पशुओं को दिखा दो, कितनी भी चोरियां कर ईमानदारी साबित कर लो हकीकत नहीं छुप सकती। भविष्य में आपका हौसला टूट जाएगा।

हमारे दिमाग को सबसे ज्यादा ताकतवर कैसे बनाएं ?

अगर आपको वाकई में अपनी स्मरण शक्ति को ताकतवर बनाना है अपने आप को मजबूत बनना है अपने दिमाग को सबसे ज्यादा शक्तिशाली बनाना है तो आज ही हर बुरे काम को छोड़ना होगा, सच्चाई का रास्ता अपनाना होगा, कोई भी ऐसा काम ना करें जिससे कि आपके मन और आपकी स्मरण शक्ति को ठेस पहुंचे, कोई भी गलत काम नहीं करेंगे परमात्मा का ध्यान रखें, अपने कर्मों में तत्परता से लगे रहे हमेशा सच बोले कोई फसता हो तो झूठ बोलदे, किसी का भला होता हो वह काम करते रहे, आपका इतना दिमाग, स्मरणशक्ती, ताकतवर बनेगी कि आप सोच भी नहीं सकते थे कि इतनी शक्तियां और इतना पावर हम में है अभी आपका कभी हौसला नहीं टूटेगा 

आपने कभी गलत काम किया है उसको झुठला दिया है मगर उसकी हकीकत सामने आते ही आपका हौसला टूट जाएगा आप कमजोर हो जाओगे इसलिए किसी भी गलत काम हो मत करना।

हमारे परिवार में समस्याएं आने का कारण क्या है ?

हमारे परिवार मे समस्याएं आने का कारण यही है कि हम अपने दिमाग से हमेशा या तो बुरा करने की सोचते रहते हैं या किसी गलत काम के लिए सोचते रहते है, या किसी के साथ यौन संबंध के बारे में सोचते हैं। कहने का मतलब यही है कि जो काम होने वाला है उसी को करो अपने घर में रोटी सब्जी खाने के लिए है तो रोटी सब्जी ही खाइए मिठाइयों की तरफ मत जाइए अगर उधर जाओगे तो समस्याएं आना लाजमी है।

किसी भी सेठ, बिजनेस मैन का पेशा हमेशा अपने धंधे में लगा हुआ होता है इसलिए उस पैसे को नहीं निकाले अन्यथा आपके घर में अशांति आ सकती है।

दोस्तों आपको हमारी जानकारी कैसी लगी हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं क्या यह सही था, हमारा मकसद किसी को ठेस पहुंचाने का नहीं था, हमने सिर्फ आपको ऐक अनुभव से अवगत करवाया है। इसकी आप कल्पना मात्र कर सकते हैं, आप जो करेंगे अपनी जिम्मेदारी से करेंगे उसमें हमारा किसी भी तरह से योगदान नहीं होगा।

 हमें सब्सक्राइब करना ना भूले क्योंकि हम अनेकों तरह की विचित्र जानकारियां हमारे यूट्यूब चैनल और वेबसाइट पर देते रहते हैं और अगर आपके पास कोई और सुझाव हो तो कृपया हमें बताएं आपका दिन शुभ हो धन्यवाद।

Previous
Next Post »