संदेश

जुलाई 28, 2021 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

धूप बत्ती और धूप बनाने की विधि।

चित्र
 सनातन धर्म में धूप-दीप का व‍िशेष महत्‍व है। मान्‍यता है क‍ि अगर व‍िध‍ि-व‍िधान से न‍ियम‍ित रूप से धूप-दीप द‍िखाया जाए। या फ‍िर धूप के टोटके क‍िए जाएं तो घर-पर‍िवार की सारी टेंशन और नेगेट‍िव‍िटीज चुटक‍ियों में ही दूर हो जाती है। मैं आपको शुद्ध जड़ी बूटियों से बनी धुप बत्ती और धूप बनाने का तरीका बताता हूँ । आशा हे आप इसका प्रयोग अवस्य करेंगे । धूप बत्ती बनाने की विधि। गाय का गोबर 100 ग्राम लकड़ी कोयला 125 ग्राम नागरमोथा 125 ग्राम लाल चन्दन 125 ग्राम जटामासी 125 ग्राम कपूर कांचली 100 ग्राम राल 250 ग्राम घी 200 ग्राम चावल की धोवन 200 ग्राम चन्दन तेल या केवड़ा तेल 20 ml इन सभी को मिलाकर आटे की तरह गूथ ले और मनचाहे आकर की धूपबत्ती बना ले। गोमय और जड़ी बूटियों से बनी इस पूजा धुप के उपयोग से कई लाभ होते है। यह भी पढ़िए- अनेकों तरह की जड़ी-बूटियां व उनके गुण आदि की जानकारी। यह पर्यावरण को शुद्ध कर प्रदूषणमुक्त करता है। इसके धुंए से वातावरण में फैले रोगाणु नष्ट होते है। धूप बनाने की विधि।(Dhup banane ki vidhi)