डिप्रेशन से बाहर कैसे निकलें।


डिप्रेशन से जूझ रही हैं तो इन 5 महत्वपूर्ण बातों का ध्यान रखें, हो सकती हैं आपकी मददगार 

अवसाद आपको अपने संबंधों, कॅरियर और सफलता से दूर कर सकता है। इसलिए जरूरी है कि आप इसके जटिल घेरे से निकलने का लगातार प्रयास करती रहें। 

डिप्रेशन एक बहुत ही गंभीर समस्या है, जो हमारे समग्र स्वास्थ्य को प्रभावित करती है। डिप्रेशन को न कहने के लिए बहुत ताकत और बहुत साहस की आवश्यकता होती है। क्या आप भी डिप्रेशन की समस्या से जूझ रही हैं? क्या आप ज्यादातर समय उदास महसूस करने से थक चुकी हैं? यदि आपका जवाब हां हैं, तो हम आपके लिए कुछ सुझाव लेकर आएं हैं जो डिप्रेशन से निपटने में आपकी मदद करेंगे।

हम यहां डिप्रेशन से निपटने के लिए विशेषज्ञों द्वारा सुझाए कुछ सरल सुझाव लेकर आएं हैं। ऐसे में जब भी आप अवसाद महसूस करेंगी तो इन बातों का ध्यान रखने से आपको इस कठिन स्थिति से लड़ने में मदद मिलेगी।

जब आप डिप्रेशन महसूस करती हैं तो इन 5 बातों का ध्यान रखें

1 आपका आत्म-सम्मान बहुत महत्‍वपूर्ण है 

आपको यह लग सकता है कि आप कुछ चीजों को करने के लायक नहीं हैं या इससे बदतर यह भी है कि आप यह नहीं जानती कि उन्हें प्राप्त करने के लिए आपको क्या करना है। आत्मसम्मान की कमी आंतरिक असंतुलन और संघर्ष पैदा करती है, जो धीरे-धीरे आपके जीवन को प्रभावित करता है।

2 वर्तमान पर ध्यान दें

विशेषज्ञों का सुझाव है कि आपको हमेशा अपने वर्तमान पर ध्यान देना चाहिए। अतीत आपके पीछे है, जो बीत गया, अब वह यहां नहीं है। अपने आप को वर्तमान में उस अत्यंत तनाव और खुशी के साथ रहने की अनुमति दें जिसकी आप हकदार हैं। यह केवल कोशिश करने लायक चीज है।

3 मदद मांगें, पर केवल सही लोगों से

शायद आपने लोगों को कहते सुना होगा, “पहले आपको अपने परिवार की ओर रुख करना चाहिए, क्योंकि वे आपका कभी भी साथ नहीं छोड़ते, हमें उम्मीद है कि यह सच है, लेकिन ध्यान रखें कि कुछ लोग ऐसे हैं जो कि आपका फायदे से ज्यादा नुकसान कर सकते हैं। विशेषज्ञ बताते हैं कि, अगर किसी को डिप्रेसिव डिसऑर्डर का पता चलता है, तो यह इस कारण है कि आप एक कमजोर व्यक्ति हैं और हमेशा दुखी रहते हैं।

ऐसे में किसी पेशेवर की मदद लें। अपने परिवार, रिश्तेदारों और दोस्तों के साथ बातचीत करें, जो वास्तव में यह जानते हैं कि आपको कैसे सुनना है। साथ ही जब आप उदास महसूस करती हैं, तो इसके बारे में अधिक खोजने की कोशिश करें कि आप इससे कैसे बाहर निकल सकती हैं।

4 आपका अवसाद घर से बाहर नहीं निकलना चाहता

यह सत्य है। अवसाद अंधेरे और चुप्पी से प्यार करता है और यह आपके दिमाग को नकारात्मक विचारों से भर देता है। इसके नकारा नहीं जा सकता है।

ऐसे में विशेषज्ञ सुझाव देते हैं, कि रोजाना कम से कम आधा घंटा बाहर टहलने के लिए निकलें। ताजी हवा में सांस लें, सूरज की किरणों को आपकी त्वचा को छूने का मौका दें। आप जिन लोगों से मिलते हैं उनसे बातचीत करें। हर दिन अपने आप को जीवन, मूवमेंट, प्रकाश और आनंद के साथ घेरें।

5 डिप्रेशन को जंक फूड बहुत पसंद होता है।

अपने आपको रिलैक्स करने के लिए, यह भी पडें।

मिठाई, नमकीन, जमे हुए भोजन, फास्ट फूड… ये सभी खाद्य पदार्थ आपकी चिंता को शांत करते हैं और आपको अस्थायी खुशी प्रदान करते हैं। वास्तव में, वे नकारात्मक न्यूरोट्रांसमीटर को भरते हुए, अवसाद के रासायनिक असंतुलन को बढ़ाते हैं।

ऐसे में अधिक ताजे फल और सब्जियां खाना शुरू करें। पानी और चाय पिएं। एक स्वस्थ आहार आपको बेहतर महसूस करने में मदद करता है। इससे आपका शरीर विषाक्त पदार्थों को खत्म करना शुरू कर देगा।

Previous
Next Post »