संतरा और किन्नू की पहचान:-Orange fruit & Murcutt fruit different

 

बाजार में आप जाते हैं तो मौसमी फलों में से सबसे ज्‍यादा पसंद करते हैं संतरे को. पर अक्‍सर संतरा की जगह कीनू खरीद लाते हैं, क्योंकि संतरा और कीनू देखने में लगभग एक जैसे होते हैं। दोनों ही फल साइट्रस परिवार से आते हैं और सर्दियों में इनकी अच्छी पैदावार होती है। सिर्फ कीनू ही नहीं, संतरे की कई अन्य किस्म आप बाजार से खरीद सकते हैं। कमर्शियल स्केल पर संतरे की 5 किस्में अधिक बिकती हैं, जिसमें कीनू के अलावा नागपुर संतरा (Nagpur orange), दार्जिलिंग संतरा (Darjeeling orange), खासी मंदारिन और कूर्ग मंदारिन (Khasi mandarin and Coorg mandarin) संतरा।

कीनू सबसे हेल्दी साइट्रस फल (Citrus fruit) है, जो भारत और पाकिस्तान के पंजाब क्षेत्र में बड़े पैमाने पर उगाया जाता है। इसे पंजाब के राजा के रूप में भी जाना जाता है। इसके अलावा यह हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर, राजस्थान और हरियाणा के कुछ क्षेत्रों में भी उगाया जाता है।


कीनू, संतरे का ही रूप होता है। आप इसे देखकर भ्रमित भी हो सकते हैं। इसकी मूल रूप से दो किस्म होती हैं। किंग (साइट्रस नोबिलिस) और विलो लीफ (साइट्रस एक्स डेलिसिओसा)। संतरे की तुलना में इसमें रस ज्यादा होता है।


संतरे और कीनू में कुछ अंतर होते हैं। कीनू को संतरे की प्रजाति के विदेशी भाई (foreign cousin) के रूप में जाना जाता है क्योंकि यह जैविक रूप से बहुत भिन्न होते हैं। जहां संतरा साइट्रस रेटिकुलेट और साइट्रस मैक्सिमा (Citru s reticulate and citrus maxima) की एक हाइब्रिड किस्म है और कीनू साइट्रस डेलिसिओसा और साइट्रस नोबिलिस (Citrus deliciosa and citrus nobilis) की हाइब्रिड किस्म है।
कीनू का रंग गहरा नारंगी और संतरे का रंग हल्का केसरिया होता है। संतरे का छिलका पतला होता है। लेकिन कीनू का छिलका मोटा होता है। इस पर सूरज की रोशनी का भी असर नहीं होता।

संतरे की तुलना में कीनू सस्ता होता है क्योंकि इसकी पैदावार अधिक होती है। संतरे की तुलना में कीनू में रस भी अधिक होता है और यह अधिक खट्टा होता है।


हेल्थ एक्सपर्ट और न्यूट्रिशनिस्ट (Health experts and nutritionists) के अनुसार, इफेक्टिव रिजल्ट पाने के लिए रोजाना कीनू का सेवन किया जा सकता है।
कीनू में संतरे की तुलना में अधिक विटामिन सी, कम कैलोरी, अधिक फाइबर और मिनरल पाए जाते हैं। इसलिए संतरे की अपेक्षा कीनू खाना अधिक फायदेमंद रहता है।


अन्य खट्टे फलों की तुलना में कीनू में लगभग 2.5 गुना अधिक कैल्शियम होता है। इसके नियमित सेवन से आपकी हड्डियां मजबूत हो सकती हैं। साथ ही इसका छिलका अन्य खट्टे फलों की तरह ही फायदेमंद है। इसके छिलकों को सुखाकर इनका यूज विभिन्न हर्बल कॉस्मेटिक प्रोडक्ट (herbal cosmetic products ) में किया जाता है। ब्लैकहेड्स के उपचार में भी प्रभावी है।


कीनू के 100 मिलीलीटर ताजे रस में करीब 20 मिलीग्राम विटामिन सी होता है, जो अन्य फलों की तुलना में बहुत अधिक होता है। यदि आपका डाइजेशन कमजोर है तो कीनू के रस के सेवन की सलाह दी जाती है। पंजाब हॉर्टिकल्चर पोस्टहार्टवर्क टेक्नॉलॉजी सेंटर (PHPTC) के अनुसार, कीनू के एंटी-ऑक्सीडेंट गुण न केवल कैंसर के खतरे को कम करते हैं बल्कि एचआईवी से भी बचाव करते हैं।

अगर आप संतरे का उपचार कर रहे हैं तो अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें क्योंकि यह जानकारियां अन्य जगह से इकट्ठा करके आपको बताई गई हैं।

हमने आपको इस पोस्ट के जरिए किन्नू और संतरे का की पहचान करने के बारे में बताया आपको हमारा पोस्ट कैसा लगा हमें कमेंट में जरूर बताएं धन्यवाद
Previous
Next Post »