संदेश

मई 4, 2020 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

यूट्यूब प्लेटफार्म किसका था अब किसके पास है।

चित्र
यूट्यूब  अमेरिका की एक वीडियो  देखने वाली वेबसाइट है, जिसमें पंजीकृत सदस्य  वीडियो क्लिप  देखने के साथ ही अपना वीडियो अपलोड  भी कर सकते हैं। इसे पेपल  के तीन पूर्व कर्मचारियों,  चाड हर्ले,  स्टीव चैन  और जावेद करीम  ने मिल कर फरवरी 2005 में बनाया था, जिसे नवम्बर 2006 में गूगल  ने $1.65 बिलियन अमेरिकी डॉलर में खरीद लिया। यूट्यूब अपने पंजीकृत सदस्यों को वीडियो अपलोड करने, देखने, शेयर करने, पसंदीदा वीडियो के रूप में जोड़ने, रिपोर्ट करने, टिप्पणी करने और दूसरे सदस्यों के चैनल की सदस्यता लेने देता है। इसमें सदस्यों से लेकर कई बड़े कंपनियों के तक वीडियो मौजूद रहते हैं। इनमें वीडियो क्लिप, टीवी कार्यक्रम, संगीत वीडियो, फिल्मों के ट्रेलर, लाइव स्ट्रीम आदि होते हैं।  कुछ लोग इसे वीडियो ब्लोगिंग के रूप में भी इस्तेमाल करते हैं। गैर-पंजीकृत सदस्य केवल वीडियो ही देख सकते हैं, वहीं पंजीकृत सदस्य असीमित वीडियो अपलोड कर सकते हैं और वीडियो में टिप्पणी भी जोड़ सकते हैं। कुछ ऐसे वीडियो, जिसमें मानहानि, उत्पीड़न, नग्नता, अपराध करने हेतु प्रेरित करने वाले वीडियो या जो भी 18 वर्ष से कम आयु के लो