संदेश

अप्रैल 18, 2020 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

कौन सी तुलसी सर्वश्रेष्ठ है ? आइए जानते हैं।

चित्र
भारतीय संस्कृति में तुलसी को पूजनीय माना जाता है, धार्मिक महत्व होने के साथ-साथ तुलसी औषधीय गुणों से भी भरपूर है आयुर्वेद में तो तुलसी को उसके औषधीय गुणों के कारण विशेष महत्व दिया गया है। तुलसी ऐसी औषधि है जो ज्यादातर बीमारियों में काम आती है। इसका उपयोग सर्दी-जुकाम खांसी, दंत रोग और श्वास संबंधी रोग के लिए बहुत ही फायदेमंद माना जाता है। आइए जानते हैं तुलसी के गुण और उनके बारे में  तुलसी-(ऑसीमम सैक्टम) एक द्विबीजपत्री तथा शाकीय, औषधीय पौधा है। यह झाड़ी के रूप में उगता है और 1 से 3 फुट ऊंचा होता है। इसकी पत्तियां बैंगनी आभा वाली हल्के रोएँ से ढकी होती है। पत्तियां 1 से 3 इंच लंबी सुगंधित और अंडाकार या आयताकार होती है। पुष्प मंजरी अति कोमल एवं 8 इंच लंबी और बहुरंगी छटाओं वाली होती है जिस पर बैंगनी और गुलाबी आभा वाले बहुत छोटे ह्रदयाकार पुष्प चक्रो में लगते हैं। बीज चपटे पीतवर्ण के छोटे काले चिन्हों से युक्त अंडाकार होते हैं। नए पौधे मुख्यरूप से वर्षा ऋतु में उगते हैं और शीतकाल में फूलते हैं। पौधा सामान्य रूप से दो-तीन वर्षों तक हरा बना रहता है। इसके बाद इसकी वृद्धावस्था आ जाती है।

औषधीय गुणों से भरपूर है तुलसी का पौधा

चित्र
भारतीय संस्कृति में तुलसी को पूजनीय माना जाता है धार्मिक महत्व होने के साथ-साथ तुलसी औषधीय गुणों से भी भरपूर है। आयुर्वेद में तो तुलसी को उसके औषधीय गुणों के कारण विशेष महत्व दिया गया है तो आइए जानते हैं तुलसी के फायदे 1 लीवर संबंधी समस्या-तुलसी की 10-12 पत्तियों को गर्म पानी से धोकर रोज सुबह खाने से लीवर की समस्या में फायदेमंद साबित होती है। 2 पाचन संबंधी समस्या-पाचन संबंधी समस्याओं जैसे दस्त लगना पेट में गैस बनना आदि होने पर एक गिलास पानी में 10 15 तुलसी की पत्तियों को डालकर उबाल लें और काढ़ा बना लें इसमें चुटकी भर सेंधा नमक डालकर पिए। 3 बुखार आने पर-दो कप पानी में एक चम्मच तुलसी की पत्तियों का पेस्ट और एक चम्मच इलायची पाउडर मिलाकर उबालें और काढ़ा बना लें 1 दिन में दो से तीन बार यह काढ़ा पिए स्वाद लिए चाहे तो इसमें चीनी भी मिला सकते हैं। 4 खांसी जुकाम-करीब सभी कफ सीरप बनाने में तुलसी का इस्तेमाल किया जाता है। तुलसी की पत्तियां कफ साफ करने में मदद करती हैं। तुलसी की कोमल पत्तियों को थोड़ी-थोड़ी देर पर अदरक के साथ चबाने से खांसी-जुकाम से राहत मिलती है। 5 सर्दी से बचाव-बारि

ब्लॉग कैसे बनाएं

चित्र
                        नया ब्लॉग कैसे बनाएं नमस्कार दोस्तों आज मैं आपको नया ब्लॉग बनाने के  बारे में बताऊंगा एकदम सिंपल दोस्तों ऐसे सुनने में आपको  लगता है कि आज मैं यह काम कैसे कर लूंगा लेकिन ब्लॉग बनाने के लिए बहुत ही सरल तरीका है। उसके लिए आपको कुछ नहीं करना है खाली अपनी जीमेल आईडी या  ईमेल आईडी चाहिए बस आपके पास फोटो है blog पर लगाने के लिए एक फोटो ले लो और आपको कुछ नहीं चाहिए अगर जीमेल आईडी नहीं है तो आप बना लीजिए उसके बाद ही आप ब्लॉगर बनाइए अब आपको लिखना है blogger.com उसके बाद पेज खुलेगा वहां पर बहुत सारे ऑप्शन खुलते हैं वहां पर आपको क्रिएट ब्लॉग वाले ऑप्शन में जाना है उस पर आप क्लिक कर दीजिए फिर आगे आपको बोलेगा gmail आईडी डालने के लिए gmail डाल  दीजिए उसके बाद नीचे आपको जीमेल का पासवर्ड  डालना है फिर नीचे बटन पर क्लिक कर दीजिए ।  ऊपर  first title लिखा रहेगा आपको  वह बोलेगा कि टाइटल में कुछ लिखिए  टाइटल में आप किस विषय में ब्लॉग बना रहे हो आप क्या काम करोगे ब्लॉग में उसके बारे में  लिख दो । जैसे -(ऑनलाइन के बारे में है तो  ऑनलाइन लिख दो आप ऑनलाइन टिप्स भी लिख सक

खरबूजे से बनाए अपने घर में फेस पैक।

चित्र
खरबूजे को अंग्रेजी में मस्कमेलन (muskmelon)  कहते हैं। इसका वैज्ञानिक नाम कुकूमिस मेलो (cucumis melo) है। वास्तव में यह तरबूज की ही एक प्रजाति है।    खरबूजा खाने में स्वाद के साथ-साथ सेहत के लिए भी काफी फायदेमंद है। इसमें पाए जाने वाले पोषक तत्व लू से लेकर कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों से लड़ने में सहायक है तो चलिए आज फेस पैक  कैसे बनाएं जानते हैं।  खरबूजे से बना फेस पैक त्वचा से संबंधित कई समस्याओं को दूर करने में कारगर है यह फेस पैक गर्मी में होने वाली सन टैनिंग, झुर्रियां, दाग-धब्बों आदि को दूर करने में सहायक होता है।  आइए जानते हैं खरबूजा फेस पैक के बेहतरीन सौंदर्य फायदे और इसे बनाने की विधि खरबूजे में पानी अच्छी मात्रा में होता है जो त्वचा को ठंडक देता है तेज धूप में रहने से होने वाली सन टेनिंग, त्वचा पर दाग-धब्बे आदि को भी खरबूजा फेसपैक दूर करने में सहायक होता है।   खरबूजे में ढेर सारे मिनरल्स और एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं, जो  त्वचा संबंधी कई समस्याओं में फायदेमंद होते हैं।   आइए जानते हैं  फेस पैक बनाने की विधि इसे बनाने के लिए सबसे पहले एक कटोरी में  दो चम्मच