यूट्यूब प्लेटफार्म किसका था अब किसके पास है।



यूट्यूब अमेरिका की एक वीडियो देखने वाली वेबसाइट है, जिसमें पंजीकृत सदस्य वीडियो क्लिप देखने के साथ ही अपना वीडियो अपलोड भी कर सकते हैं। इसे पेपल के तीन पूर्व कर्मचारियों, चाड हर्ले,  स्टीव चैन और जावेद करीम ने मिल कर फरवरी 2005 में बनाया था, जिसे नवम्बर 2006 में गूगल ने $1.65 बिलियन अमेरिकी डॉलर में खरीद लिया।



यूट्यूब अपने पंजीकृत सदस्यों को वीडियो अपलोड करने, देखने, शेयर करने, पसंदीदा वीडियो के रूप में जोड़ने, रिपोर्ट करने, टिप्पणी करने और दूसरे सदस्यों के चैनल की सदस्यता लेने देता है। इसमें सदस्यों से लेकर कई बड़े कंपनियों के तक वीडियो मौजूद रहते हैं। इनमें वीडियो क्लिप, टीवी कार्यक्रम, संगीत वीडियो, फिल्मों के ट्रेलर, लाइव स्ट्रीम आदि होते हैं।
 कुछ लोग इसे वीडियो ब्लोगिंग के रूप में भी इस्तेमाल करते हैं। गैर-पंजीकृत सदस्य केवल वीडियो ही देख सकते हैं, वहीं पंजीकृत सदस्य असीमित वीडियो अपलोड कर सकते हैं और वीडियो में टिप्पणी भी जोड़ सकते हैं। कुछ ऐसे वीडियो, जिसमें मानहानि, उत्पीड़न, नग्नता, अपराध करने हेतु प्रेरित करने वाले वीडियो या जो भी 18 वर्ष से कम आयु के लोगों के लिए घातक हो, उन्हें सिर्फ 18+ आयु के पंजीकृत सदस्य ही देख सकते हैं।
यूट्यूब अपनी कमाई गूूगल ऐडसेंस से करता है, जो साइट के सामग्री और दर्शकों के हिसाब से अपना विज्ञापन दिखाता है। इसमें अधिकांश वीडियो मुफ्त में देखा जा सकता है, पर कुछ वीडियो को देखने के लिए पैसे देने पड़ते हैं। इनमें से एक फिल्में उधार लेकर देखना भी शामिल है, जिसमें आप कुछ पैसे देकर फिल्म देख सकते हैं। यूट्यूब चैनल की सदस्यता भी आप पैसे देकर ले सकते हैं, जिससे आप बिना कोई विज्ञापन के कई सारे वीडियो देख सकते हैं और साथ ही यूट्यूब प्रीमियम पर कुछ ऐसे वीडियो भी हैं, जिसे सिर्फ आप यूट्यूब प्रीमियम की सदस्यता खरीद कर ही देख सकते हैं।

यूट्यूब की सेवा शर्तों के अनुसार उपयॊगर्ता कापीराइट धारक और वीडियॊ में दिखाए गए लॊगॊं की अनुमित से ही वीडियॊ अपलॊड कर सकता है अश्लीलता, नग्नता, मानहानि, उत्पीड़न, वाणिज्यिक और विज्ञापन और आपराधिक आचरण कॊ प्रॊत्साहित करने वाली सामग्री निषिद्ध हैं। अपलॊड करने वाला यूट़्यूब कॊ अपॊड की हुइ सामग्री किसी भी उद्देश्य के लिए वितरित करने या संशॊधित करने का अधिकार देता है यह लाइसेंस उस समय रद़द हॊ जाता है जब अपलॊड करने वाला सामग्री साइट से मिटा देता हैउपयॊग कर्ता साइट पर तभी तक वीडियो देख सकते हैं जब तक कि वे सेवा शर्तों पर सहमत हैं ; डाउनलोड करने के लिए अपने माध्यम या वीडियो की नकल की अनुमति नहीं है

हमारी राय
आप हमारी माने तो किसी दूसरे का वीडियो यूट्यूब पर अपलोड ना करें अपना वीडियो खुद का बनाकर ही यूट्यूब पर शेयर करें।
कृपया कर आप यूट्यूब की सेवा शर्तें पूरा पढ़ लीजिए अगर आप यूट्यूब पर काम करना चाहते हैं तो यूट्यूब की सेवा शर्तों के अनुसार अगर आप विज्ञापन लगा कर रुपए कमाना चाहते हो तो आपको 1000 सब्सक्राइब और 4000 वॉच टाइम चाहिए तभी आप ऐडसेंस के ऐड लगा पाओगे यूट्यूब पर अन्यथा नहीं ज्यादा जानकारी के लिए आपको यूट्यूब के नियम और शर्तें पढ़ लेनी चाहिए।
Previous
Next Post »