कोरोना वायरस को लेकर अनेक भ्रांतियां क्या सही है, क्या गलत है।


चीन में पहली बार जब कोरोनावायरस का मरीज मिला तो वैज्ञानिक और डॉक्टर भी हैरान रह गए क्योंकि इससे पहले ऐसी बीमारी से उनका सामना नहीं हुआ था इस तरह आम लोगों के लिए भी कोरोना बीमारी नई बीमारी रही इस दौरान भारत में सोशल मीडिया पर इससे जुड़ी कई बातें जारी हुई इसमें कुछ सही है तो कुछ भ्रामक जानिए इनके बारे में


1 सर्दी जुखाम का मतलब कोरोना है ?
    ऐसा बिल्कुल नहीं है। सर्दी जुकाम खांसी और बुखार कोरोना वायरस के लक्षण नहीं हैं।
कोरोना वायरस के लक्षण विशेष रूप से तेज बुखार और सांस लेने में तकलीफ बढ़ने को माना जाता है। सर्दी जुखाम को नहीं।
         लेकिन किसी का ऐसा हो रहा है तो इसका मतलब यह नहीं कि उसे कोरोना ही हुआ है प्रदूषण के कारण भी सूखी खांसी होती है सामान्य फ्लू में बलगम वाली खांसी और बुखार सामान्य है हां यदि सर्दी-जुकाम और तेज बुखार लंबे समय से है तो डॉक्टर को जरूर दिखाना चाहिए।

2 पालतू जानवर को भी हो सकता है कोरोनावायरस ?
        सच है चीन में ऐसे कई मामले सामने आ चुके हैं जब पालतू कुत्तों और बिल्लियों में यह संक्रमण पाया गया मालिकों ने उन्हें मार दिया चीन से कई ऐसी तस्वीरें भी सामने आई है  कुत्तों या बिल्लियों को मास्क पहने देखा गया।

3 बुजुर्गों पर जल्दी हमला करता है कोरोना वायरस ?
         यह बात बिल्कुल सही है दरअसल कोरोनावायरस हर उस इंसान को निशाना बना रहा है जो कमजोर है उम्र बढ़ने के साथ बीमारियों से लड़ने की ताकत भी घट जाती है यही कारण है कि कमजोर लोगों को इससे बचकर रहने की जरूरत है।

4 क्या मोबाइल फोन से भी हो सकता है कोरोना वायरस ?
          यदि संक्रमित व्यक्ति ने आपके फोन को छुआ है तो निश्चित तौर पर संक्रमण फैल सकता है बेहतर होगा फोन की समय-समय पर सफाई करते रहे फोन की स्क्रीन को सैनिटाइजर से साफ किया जा सकता है।

5 पार्सल के जरिए भी फैल सकता है कोरोना ?
              हां कोरोना पॉजिटिव शक्स जिस-जिस चीज को छुएगा, वायरस उस पर फैल जाएगा ऐसे में बाहर से आने वाले पार्सल पर भी कोरोनावायरस हो सकता है हालांकि इंसानी शरीर से बाहर यह वायरस (8 से 10 घंटे) बहुत कम समय के लिए जिंदा रह पाता है यदि कोई पार्सल आया है तो उसे लेने के बाद हाथ अच्छी तरह साफ जरूर कर लें।

6 हैंड ड्रायर से कोरोनावायरस मर जाता है ?
            हैंड ड्रायर का कोरोनावायरस पर कोई असर नहीं पड़ता है इसके बचने का तरीका यही है कि हाथों को समय-समय पर साबुन से धोया जाए सैनिटाइजर का उपयोग भी किया जा सकता है लेकिन सबसे ज्यादा जरूरी है। हाथों को पानी से धोना इसके अलावा जो कुछ कहा जा रहा है वह भ्रामक है।

7 कोरोना वायरस छूने से फैलता है ?
         यह बिल्कुल सही है माना जाता है कि यह वायरस चमगादड़ से इंसानों में आया लेकिन अब यह इंसानों से इंसानों में फैलने लगा है यही नहीं कोरोनावायरस सांस के जरिए भी फैल रहा है मरीज के संपर्क में जो जो लोग आएंगे उन्हें भी संक्रमण हो सकता है।

8 क्या कोरोना वायरस लाइलाज बीमारी है ?
            नहीं ऐसा नहीं है कि संक्रमण का शिकार होने के बाद कोई मरीज ठीक नहीं हो सके अभी इसके लक्षणों का इलाज किया जा रहा है और अकेले भारत में 10 मरीजों को ठीक किया जा चुका है चीन में भी हालात अब पहले से काफी सुधर गए हैं और जिंदगी तेजी से पटरी पर लौट रही है।


9 क्या अल्कोहल के सेवन से दूर भागता है कोरोनावायरस ?
               कोरोना वायरस के संबंध में अल्कोहल का जिक्र तब हुआ जब सैनिटाइजर की बात चली। दरअसल अच्छे सेनीटाइजर में एक नियम मात्रा में अल्कोहल भी होता है, इसके बाद सोशल मीडिया पर मैसेज चल पड़े अल्कोहल के सेवन से कोरोनावायरस दूर भागता है, जबकि यह बिल्कुल भी सच नहीं है। कोरोना वायरस से बचने के लिए तो सलाह दी जा रही है कि लोग शराब और सिगरेट से दूर रहें।

10 क्या लहसुन-प्याज खाने से नहीं होता कोरोनावायरस ?
               यह सही नहीं है, सोशल मीडिया पर ऐसे कई नुस्खे चल रहे हैं, लेकिन अब तक पुष्टि नहीं हुई है। इतना आसान होता तो कोरोना वायरस का टीका बनाने के लिए दुनिया भर के वैज्ञानिक जूझते नहीं हां शरीर की अंदरूनी मजबूती यानि बीमारियों से लड़ने की ताकत बढ़ाने के लिए जो कुछ खाया जा सकता है वह फायदेमंद हो सकता है। लेकिन मांसाहार से दूर रहे।

11 क्या अदरक, शहद, नींबू और लौंग का सेवन वायरस से बचा सकता है ?
                यह सही नहीं है कई लोग ऐसे नुस्खे बता रहे हैं लेकिन अब तक इसकी पुष्टि नहीं हुई है।

12 क्या 2 से 3 घंटे तक सूरज के सामने खड़े रहने से, गर्म पानी पीने से और गरारे करने से वायरस से बचा जा सकता है?
                अभी तक इस तरह के कोई भी मामले सामने नहीं आए जिससे यह सिद्ध हो सके कि इन तरीकों से वायरस से बच सकते हैं यह सही नहीं है कि सूरज की किरणें, गरारे और गर्म पानी आपको वायरस से बचा सकते हैं।

13 क्या कोरोनावायरस हवा से फैलने वाला संक्रमण है ?
                     यह हवा से फैलने वाला संक्रमण नहीं है। यह छींक या खांसी के दौरान निकलने वाली महीन बूंदों से फेलता है। यह हवा में 1 मीटर जा सकता है। अगर संक्रमित के संपर्क में है तो संक्रमित बूंदे आपके चेहरे पर भी आ सकती हैं हां वायरस सतह पर कुछ घंटे जीवित रह सकता है।

14  क्या मास्क (सर्जिकल और एन-95) का उपयोग वायरस से बचने के लिए बहुत जरूरी है ?
                विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार यदि कोई स्वस्थ इंसान काम से बाहर जा रहा हो तो सर्जिकल मास्क का उपयोग करना जरूरी नहीं है। अगर सर्दी जुकाम या खांसी है तो आप मास्क पहन सकते हैं। ताकि दूसरों में यह बीमारी न फैले जब वायरसग्रस्त व्यक्ति छीकता-खासता है तो उससे फैली द्रव्य की बूंदों में यह वायरस हो सकते हैं। मास्क लोगों को बार-बार चेहरे को छूने से भी रोकता है। स्वस्थ लोगों के लिए मास्क आवश्यक नहीं है। मास्क गंदा या नम हो तो आप उसे बदल दें। मास्क सही तरीके से न पहना जाए तो कोई फायदा नहीं होता। मास्क छूने या ठीक करने से पहले आप हाथों को अच्छे से धो लें। यह ध्यान रखें कि आप किसी दूसरे व्यक्ति का मास्क न पहने।

कोरोना वायरस सेफ्टी टिप्स ओर गिलोय का काढ़ा बनाने की विधि।

  कोरोना वायरस से भ्रमित ना हो और अपने आप को शारीरिक और मानसिक रूप से मजबूत बनाए रखें साथ में हमने जो इलाज बताया है गिलोय का काढ़ा उसका उपयोग करते रहें अगर आप स्वस्थ भी हैं तो भी उसका इस्तेमाल करते रहें ताकि आपको अंदरूनी मजबूती मिलती रहे।

हमारा पोस्ट पढ़ने के लिए धन्यवाद हम आपके लिए नई-नई जानकारियां इकट्ठा करके सांझा करते रहते हैं अगर आपने हमारी वेबसाइट को सब्सक्राइब नहीं कर रखा है तो सब्सक्राइब कर कर लें ताकि आपको हर पोस्ट की नोटिफिकेशन मिलती रहे आपका दिन शुभ हो आप स्वस्थ रहें।
Previous
Next Post »