बढ़ रहा डेंगू का प्रकोप जाने इससे बचने का उपाय।



 

वायरल फीवर का पता कैसे करे ।

 1 सरदर्द होना
 2 जी घबराता
 3 सर्दी खांसी होना
 4 शरीर के जोङो मे दर्द होना, शरीर की ताकत कम होना
 5 बुखार आना
 6 अपने दिमाक मे कमजोरी महशुश होना
 7 आखों मे जलन होना,या आखों मे अँधेरी आना

तो दोस्तों यह था वायरल फीवर  का लक्षण 
ऊपर बताए लक्षणों के अनुसार अपने शरीर में महसूस करते हो तो जरूर एक बार डॉक्टर को चेकअप कराएं डॉक्टर के चेकअप में अगर आपको वायरल फीवर पाया जाता है आपकी प्लेटलेट डाउन है तो डॉक्टर अनुसार दवाइयां ले उसके अलावा आपको मैं देसी घर में क्या-क्या खाना है वह बताऊंगा।
      
वायरल फीवर में सावधानियां।
किसी से भी बात करें अपने मुंह पर पट्टी रखें, (जिससे आपके फीवर के संक्रमण दूसरे व्यक्ति में न चले जाए) बाहर हवा में ना घूमें, जी घबराने पर आप खाना बंद ना करें खाना खाते रहे, गर्म पानी पिए। गिलोय का रस गर्म करके दिन में दो बार ले

अधिक जानकारी के लिए यह भी पढ़ें


 वायरल फीवर में क्या क्या डाइट लें।
बकरी का दूध, नारियल पानी, संतरा व नींबू का सेवन, कीबी, पपीते का फल, पपीते के पत्तो का जूश पिऐं और भरपूर मात्रा में आपको खाना खाते रहना है बार-बार पानी पीते रहना है।

पपीते के पत्तों का जूस बनाने की विधि यहां क्लिक करे।>>>>>>

        आपकी जानकारी के लिए बता दूं की बकरी का दूध विटामिन से भरपूर है।
   बकरी के दूध में कैल्शियम, प्रोटीन मैग्नीशियम, पोटेशियम, विटामिन ए, विटामिन बी2,  विटामिन सी, और विटामिन डी की भरपूर मात्रा पाई जाती है जो वायरल फीवर में प्लेटलेट कम होने से प्लेटलेट की संख्या को तेजी से बढ़ाने में हमारी मदद करता है।
            बकरी के दूध पर की गई रिसर्च में पता चला है कि इस दूध में एक खास तरह का प्रोटीन शामिल है यही वह प्रोटीन है जो वायरल फीवर (डेंगू )के मरीज में प्लेटलेट्स की संख्या को बढ़ाता है।

एक बार यहां क्लिक करके वीडियो जरूर देखें

 आपकी जानकारी के लिए बता दूं कि चिकनगुनिया में भी यही प्रोटीन काम करता है।
            दोस्तों इस जानकारी को इतना शेयर करो इतना फैला दो कि हर भाई को फायदा मिल सके और डेंगू के प्रकोप से बचने में मदद मिले।
                      धन्यवाद 

Previous
Next Post »